आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से आपकी नौकरी पर क्या प्रभाव पड़ेगा, AI impact on job in hindi

[rank_math_breadcrumb]

क्या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आपकी जिंदगी आसान करने की बजाई मुश्किल में डाल देगा? क्या तेजी से बढ़ रही तकनीक हमारी आपकी जिंदगी को खतरे में डाल सकती है? क्या इससे हम इंसानों की नौकरी खतरे में है? इन्हीं सब के जवाब आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से आपकी नौकरी पर क्या प्रभाव पड़ेगा (AI impact on job in hindi)

ये सवाल लगातार उठ रहे हैं और ये सवाल तो कहीं ना कहीं हम सबके जहन में उठ रहे हैं। तब से जब से कई कंपनियां Chat not के रेस में उतरने लगी हैं और अब तो इसे लेकर वो भी डर रहे हैं जो तकनीक की दुनिया के अगुआ हैं। दरअसल आर्टिफीसियल इन्टेलिजेन्स जिस तेजी से आगे बढ़ रहा है और जीस तरीके से इसके इस्तेमाल की तैयारी हो रही है। इसका अंदाजा तो इसे बनाने वालों को भी नहीं था। आर्टिफीसियल इंटेलीजेंस यानी ai इंसानों के लिए बहुत बड़ा खतरा है। ये कहा है गूगल से जुड़े एक लीडिंग इंजीनियर डॉक्टर जेफरी हिंटन ने, जिन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

AI impact on job in hindi
AI impact on job in hindi

डॉक्टर जेफरी हिंटन की ai पर राय

जैसा कि आप सभी को पता ही होगा कि जेफरी हिंटन को आर्टिफीसियल इंटेलीजेंस के जनक के रूप में जाना जाता है। डॉक्टर जेफरी हिंटन ने डीप लर्निंग और न्यूरल नेटवर्क को लेकर रिसर्च की थी और इसी रिसर्च को जरिया बनाकर Chat GPT जैसे ai सिस्टम को बनाया गया। अब हिंटन ने कहा है कि उन्हें अफसोस है कि वो इस रिसर्च से जुड़े थे क्योंकि ai टेक्नोलॉजी की वजह से इंटरनेट पर गलत खबरों और अफवाहों की भरमार हो जाएगी।

जेफरी हिंटन ने कहा, “जब ai जैसी तकनीक हमसे भी ज्यादा समझदार हो जाएगी तब बड़ा खतरा पैदा हो जाएगा। हाल ही में मैं इस नतीजे पर पहुंचा हूँ कि आर्टिफीसियल इन्टेलिजेन्स जीस तरह से डेवलॅप हो रही है, यह इंसान की इंटेलीजेंस या समझ से बिल्कुल अलग है। हम इंसान हैं और ये एक डिजिटल सिस्टम है। समस्या ये है कि ये डिजिटल सिस्टम हमपर हावी होता जा रहा है।”

Dr. Jeffrey Hinton on AI

कई तरह के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम विकसित हो रहे हैं और ये सब लगातार सीख कर अपने आप को अपडेट कर सकते हैं। मान लीजिए कहीं पर 10,000 लोग हैं और उनमें से कोई एक शख्स कोई नई चीज़ सीखता है तो बाकी के 10,000 लोग भी उससे वो चीज़ सीख लेंगे। Chat bot जैसे सिस्टम भी ऐसे ही काम करते हैं। वो किसी एक शख्स के मुकाबले कई गुना ज्यादा होशियार होते हैं।

Chat GPT जैसी तकनीक इतना जानती है कि वो इंसान के नॉलेज पर भारी पड़ रही है। जीस तरह से इस तकनीक पर लगातार काम चल रहा है उससे ये और बेहतर और सटीक होती जाएगी। इस वजह से हमें चिंता करने की जरूरत है। वो हमसे बेहतर और होशियार होने की राह पर है। इंसान पर तकनीक भारी पड़ने वाली है। एलन मस्क से लेकर योशुदा बेंजीओ जिन्हें ai का कथित गॉडफादर माना जाता है और गूगल के CEO सुंदर पिचाई तक इसे लेकर अंदेशा जाता चूके हैं तो आखिर क्यों ये डर जताया जा रहा है? कई लोग मान रहे हैं कि कुछ दिनों में इंसानी दिमाग की ताकत को भी पीछे छोड़ देगा। 

किन नौकरियों पर होगा ai का असर

दरअसल माना जा रहा है कि ai के कारण 30,00,00,000 नौकरियों पर खतरा हो सकता है। ये माना जा रहा है कि 46 फीसदी प्रशासनिक काम ai निपटा सकता है तो 44 फीसदी कानूनी काम काज भी कर सकता है। लेकिन लेबर से जुड़े काम जैसे कंस्ट्रक्शन या मेंटेनेंस के सिर्फ छह फीसदी काम ही ai कर सकते हैं। यानी यहाँ पर नौकरियों को इससे कम खतरा है। कलाकारों को भी ये ai परेशान कर रहा है। ये आर्ट क्रियेट कर सकता है, गाने लिख सकता है, यही नहीं, किसी कलाकार के काम के स्टाइल को कुछ सेकंड में कॉपी कर सकता है। हाल ही में चैट बोट जी पी टी ने एक दिवंगत कॉमेडियन के स्टाइल में स्टैंड अप कॉमेडी की स्क्रिप्ट लिख डाली। 

AI impact on job in hindi
AI impact on job in hindi

Stable diffusion जो open source ai image generator है, हर वो इमेज क्रियेट कर सकता है, जो आप अपने दिमाग में सोच सकते हैं। अब कुछ कलाकारों को डर है कि जीस कला को सीखने में उन्होंने बरसों लगाए, उसे आर्टिफीसियल इंटेलीजेंस मिनटों में बना सकता है। हालांकि फिलहाल यह पता नहीं है कि कितने लोगों की नौकरी इस नई AI टेकनिक से प्रभावित हो सकती है। लेकिन माना ये जा रहा है कि chat gpt उन लोगों के आर्टिकल लिखने में भी मदद कर सकता है जो बहुत बेहतर तरीके से नहीं लिख सकते।

ये भी पढ़ें!

Sora AI क्या है और ये text को वीडियो में कैसे बदलता है, क्या इससे वीडियो एडिटर की जॉब खतरे में है?

5 AI Tools जो आपका काम आसान करेंगे, 5 Money making ai tool in hindi

हाल ही में किए गए एक एक्स्पेरमेन्ट में हजारों आर्टिकल और सोशल मीडिया पोस्ट लिखे गए। हो सकता है इससे आगे पत्रकारों की नौकरी को भी खतरा हो। रिसर्च इसोर इशारा करते हैं कि साल 1980 से लेकर अब तक तकनीक जैसे जैसे तरक्की कर रही हैं, नौकरियों के मौके मिलने के बजाय लोगों को नौकरियों से हटाने के मौके मिल रहे हैं। हालांकि कई लोगों का ये भी मानना है कि इससे प्रोडक्टिविटी बढ़ेगी तो इससे एक तरह की औद्योगिक क्रांति भी आ सकती है। कई इंडस्ट्री और सरकारों तो इसे लेकर उत्साहित हैं। ब्रिटेन में सरकार AI को बढ़ावा देने के लिए बड़ा निवेश करने की बात कर रही है। ब्रिटिश

सरकार का कहना है इससे अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। वहीं भारत में प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि वो चाहते हैं कि भारत AI के लिए एक वैश्विक हब बने। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि ये देश की सामूहिक जिम्मेदारी भी है कि दुनिया को ai आई के दुरूपयोग से बचाए। माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स का कहना है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

FAQs

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से आपकी नौकरी पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग कई क्षेत्रों में तेजी से बढ़ रहा है, जिससे कुछ नौकरियां खतरे में हो सकती हैं। उदाहरण के लिए, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, डेटा एनालिटिक्स, और कस्टमर सर्विस क्षेत्र में ऐसे कई कार्य हैं जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस द्वारा स्वचालित किए जा सकते हैं। हालांकि, यह नई तकनीक भी नए नौकरी अवसर प्रदान कर सकती है, जैसे कि डेटा साइंटिस्ट, मशीन लर्निंग इंजीनियर, प्रॉम्प्ट इंजीनियर और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस डेवलपर।

क्या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आगमन से मानव संपर्क वाली नौकरियां कम होंगी?

हां, कुछ मानव संपर्क वाली नौकरियां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आगमन से कम हो सकती हैं, जैसे कि कस्टमर सर्विस क्षेत्र में कुछ स्वचालित प्रक्रियाएं।

क्या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रयोग से नौकरियों में वृद्धि होगी?

हां, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रयोग से नौकरियों की उत्पत्ति में वृद्धि हो सकती है, विशेष रूप से नई तकनीकी उपकरणों के डिज़ाइन और विकास में।

2 thoughts on “आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से आपकी नौकरी पर क्या प्रभाव पड़ेगा, AI impact on job in hindi”

  1. Pingback: Gemini क्या है और ये Chat GPT से कितना एडवांस है | Gemini क्या क्या कर सकता है? - Aapka Ai

  2. Pingback: अब ज्योतिष की जगह लेगा ai, जानिए ai को लेकर 5 बड़ी अपडेट - Aapka Ai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top